सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

जनवरी, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

भगवान शिव का मदारी अवतार की कथा

शिव महापुराण में वर्णित भगवान शिव का मदारी का अवतार,  आज हम जानेंगे  भगवान शंकर और राम जी से जुड़ी हुई  एक पौराणिक कहानी के बारे में जो राम जी के बाल्यावस्था की है.  जाने कैसे  भगवान शिव मदारी के रूप में प्रकट हुए, और कैसे राम जी के दर्शन करने पहुंच गए, अयोध्या ।।   कथा राम जी के जन्म समय की है, जब भगवान राम का जन्म हो गया था, एक दिन भगवान शिव की बालक रूप में राम जी को देखने की अभिलाषा व्यक्त हुई तो बाबा कैलाश पति उमा नाथ मदारी का भेष बनाकर, एक हाथ में बंदर, एक हाथ में डमरू  बजाते हुए अयोध्या  राजमहल की ओर चले गए. बाबा डमरू बजाते ओर बंदर करतब दिखाने लगता , जेसे ही राम जी ने मदारी के डमरू की आवाज सुनी तो दौड़े चले आए और बंदर के खेल को देख कर बहुत प्रसन्न हुए. राम जी को बंदर पसंद आ गया और मदारी से बंदर लेने की अभिलाषा व्यक्त की, मदारी के भेष मे शिव ने पहले तो अपना बंदर देने से  मना कर दिया लेकिन राम जी के बार बार आग्रह करने पर मदारी मान  गए और राम जी सेे एक  हमेशा बंदर को हमेशा अपने पास ही रखेंगे लेकर, , शिव जी बंदर को राम जी को देकर कैलाश पर्वत की ओर चले गए.    पौराणिक कथाओं के अनु